सोमवार, सितंबर 22, 2008

मेड इन चाइना से बच के रहना

चीन का सामान पूरे विश्व में इतना सस्ता बेचा जा रहा है कि वह उस देश में बने सामान की लागत से भी कम में उपलब्ध है । सस्ते के चक्कर में लोगो ने गुडवत्ता से भी समझोता कर लिया । पर एक चौकाने वाली रिपोर्ट आंख और कान खोलने की लिए काफी है ।
अंतर राष्ट्रीय बाज़ार में चीनी प्रोडक्ट अपनी विश्वसनीयता लगातार घट रही है । चीन के खिलोनो को लेकर दुनिया भर में उनकी हयजिन पर प्रश्न चिन्ह लग चूका है। वह बच्चो के लिए खतरनाक साबित हो चुके है । और बच्चो का दूध पाउडर भी जहरीला साबित हुआ है । फ्रांस और जापान में भी चीनी उत्पादों को लेकर शिकायत मिली है ।
फ्रांस में चीन में बनी कुर्सिया विषाक्त पाई गई है । इन कुर्सियो पर बैठने वाले लोगो ने अलेर्जिक खुजली और संकर्मण जैसी समस्याए बताई है । पेरिस के केरोलिन मोरिन ने बताया है कई महीनो से उसे त्वचा सम्वन्धी कुछ समस्या थी । वह यह जानकार वह सन्न रह गई कि उसकी समस्या के पीछे चीन की बनी कुर्सी थी जो पिछले दिसम्बर में खरीदी थी । चीन में बनी कुर्सियो का इस्तमाल करने वालो को एक्जीमा की शिकायत पाई गई ।
फ्रांसीसी वितरक कोंफोर्मा ने अपने ग्राहकों को चेतावनी दे दी है ,और चीनी ब्यापार से तौबा कर ली है । और जापानी कम्पनी ने भी यही किया है।
और हम लोग क्या कर रहे है कब तक सोचेंगे। इस चीन के चक्कर से हम भी तौबा कर ले .यह तो हमारे लिए भी नुकसानदायक है और हमारे देश के किये भी ।

11 टिप्‍पणियां:

  1. कल आदि के लिये sipper लेने गया..

    एक ही बात कही.. mede in china मत दि्खाओ..

    उत्तर देंहटाएं
  2. इस जानकारी के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद।

    उत्तर देंहटाएं
  3. जो भी गुणवत्ता को ध्यान में रखकर खरीदारी करते हैं , चायनीज चीजों के चक्कर में कभी नहीं रहते। एक अच्छे आलेख के लिए धन्यवाद।

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत अच्छी जानकारी दी हे आप ने लेकिन मे तो लेता ही नही चीन का बना कोई भी माल.
    धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  5. गुडवत्ता
    समझोता
    चौकाने
    चीनी प्रोडक्ट अपनी विश्वसनीयता लगातार घट रही है ।
    खिलोनो
    बच्चो
    कुर्सिया
    अलेर्जिक
    संकर्मण

    उत्तर देंहटाएं
  6. chin ka bajan ab do hi jagah bacha hai. ek nepal aur ek india. baki har jagah se ye bahar ho chuka hai.

    उत्तर देंहटाएं

आप बताये क्या मैने ठीक लिखा