शुक्रवार, जनवरी 16, 2009

आज मुझे ज्ञान प्राप्त हुआ ।

आज मुझे ज्ञान प्राप्त हुआ

सोना कितना जरुरी है यह ज्ञात हुआ

क्योकि सोते समय ही सपने दीखते है

और सपने आगे बड़ने की प्रेरणा देते है

इसलिए

सोइए खूब सोइए

सपने देखिये

शान्ति के

समृद्धि के

खुशहाली के

लेकिन

सपने हकीक़त मे

सपने ही रहते है

सयाने कहते है

सपने सपने होते है







11 टिप्‍पणियां:

  1. सबसे पहले तो ये बताएं की आपकी तबियत कैसी है आज-कल?.बहोत ही बढ़िया कविता लिखी है आपने मार्गदर्शन करती हुई ...ढेरो बधाई आपको....

    अर्श

    उत्तर देंहटाएं
  2. सपने सपने रहते हों, पर वे एक हकीकत की बुनियाद जरूर डालते हैं।
    इस देश को स्वप्न दृष्टा लोगों की बहुत जरूरत है।

    उत्तर देंहटाएं
  3. सपनों को साकार भी किया जा सकता है. आभार.

    उत्तर देंहटाएं
  4. सपने देखने वाले न हो , तो सपनों को साकार कौन करेगा भला ?

    उत्तर देंहटाएं
  5. सपने ही तो जीवन हैं...सपने सच करने को ही मानव जिन्दा रहता है वो सपना चाहे रोटी का हो मकान का कपड़े का...
    नीरज

    उत्तर देंहटाएं
  6. सही कहा भाई सपने हकीकत में भी सपने ही होते हैं। आजकल इनकी जरुरत कुछ जादा ही है।

    उत्तर देंहटाएं
  7. यह सपना नहीं है भाई साब !

    आप हकीकत में बहुत अच्छी कविता लिख बैठे हो !

    बधाई हो आप तो कवि हो गए !

    सपने देखने का पहला फायदा !

    उत्तर देंहटाएं
  8. आप अपनी तबीयत का ख्याल रखें. हम सोते हैं और सपने देखते हैं. नमस्ते.

    उत्तर देंहटाएं
  9. ठीक कहा आपने.. सपने देखने ही चाहिए.. और देखकर उन्हे पूरा करना चाहिए.. जीवन में लक्ष्य का होना बहुत ज़रूरी है

    उत्तर देंहटाएं
  10. अरे वाह ... बहुत सुंदर बाकी बाते तो सभी ने कह ही दी.
    धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं

आप बताये क्या मैने ठीक लिखा