बुधवार, जनवरी 14, 2009

वसुधैव कुटुम्बकम - ब्लोगेर परिवार जिंदाबाद

दुआ मिलते ही दर्द हवा हो गयादवा का काम लगभग खत्म हो गयाआप जैसे शुभ चिंतक मिल जाए तो अशुभ किसी का कभी हो

मेरा प्यारा ब्लोगेर परिवार , देखे अपने है हज़ारजब से नए परिवार से जुड़ा ,इसे देखा इसे परखा तो रूप ,रंगजाति, देश अलग होने के बाबजूद भाषा के माध्यम से हम आपस मे जुड़े हैसबके दुःख मे हौसला बढाते हैसुखमे जश्न मनाते है

वेदों मे जो वसुधैव कुटुम्बकम की चर्चा है वह शायद हम लोग सिद्ध कर रहे हैसारे विश्व मेरा परिवार है ,और मुझेगर्व है हमारा ब्लोगेर परिवार ही दुनिया के कोने कोने मे फैला हैसातो महादीप मे हम मौजूद हैऔर बिना किसीलालच के आपस मे जुड़े हैऔर सबसे बढिया बात हमारे बीच मे मतभेद तो है मनभेद नही

ईश्वर यही प्यार हम पर बनाये रखे कोई नज़र लगे हमारे परिवार परआमीन
, ,

23 टिप्‍पणियां:

  1. हे ! ज्यादा इमोशनल नहीं होने का . क्या ! :)

    जवाब देंहटाएं
  2. ईश्वर यही प्यार हम पर बनाये रखे कोई नज़र न लगे हमारे परिवार पर । आमीन
    "" भगवान आपकी दुआ कबुल करे इसी शुभकामना के साथ.."

    regards

    जवाब देंहटाएं
  3. अरे हाँ जी!! हम भी यही दुआ करते हैं की किसी की नजर न लगे जी !!

    काला टीका लगा ले क्या??? पर कहाँ.......

    जवाब देंहटाएं
  4. बढ़िया . भैय्या जी कृपया ब्लॉग हेअदर जो कला कर ले पट्टी भी लग जावेगी. मकर संक्रांति की शुभकामना

    जवाब देंहटाएं
  5. jeehan umeed hai yah sohard bana raheyga....मकर संक्रांति की शुभकामनाएं

    जवाब देंहटाएं
  6. ईश्वर की कृपा है। आप स्वस्थ बने रहें।

    जवाब देंहटाएं
  7. यही तो ख़ास बात है ब्लॉग जगत की सब साथ साथ हैं :)मकर संक्रांति की शुभकामनाएं

    जवाब देंहटाएं
  8. नीबू मिर्ची टाग देते है जी ... नजर नही लगेगी
    शुभ - शुभ बोलो जी..............

    जवाब देंहटाएं
  9. चलिये अच्‍छा है। अब नियमित पढ्ने को मिलेगा।

    जवाब देंहटाएं
  10. तथास्तु. मकर संक्रांति पर शुभकामनायें.

    जवाब देंहटाएं
  11. सब से ऊपर लिख दो बडे बडे शबदो मे????.
    बुरी नजर वाले तेरा.......
    फ़िर सवाल ही पेदा नही होता कि नजर लग जाये, मेने ट्रको के पीछॆ हमेशा लिखा देखा है.
    धन्यवाद

    जवाब देंहटाएं

  12. काश यह भावना सभी में हो..
    इस शुभ अवसर पर एक अशुभ विचार आया है, बोलूँ ?
    नहीं, सबका मूड ख़राब हो जायेगा..
    सो, आज नहीं !

    जवाब देंहटाएं
  13. सही कहा आपने...बहुत प्यारा परिवार है...
    नीरज

    जवाब देंहटाएं
  14. बहत ही उम्दा
    मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामना

    जवाब देंहटाएं
  15. मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाऐं.

    जवाब देंहटाएं
  16. क्यूँ भाई...अगर कोई दिक्कत है...तो मैं विरोधी बन जाऊं...हां.हां.हां.हा..क्यूँ उकसा रहे हो आप हमें....??

    जवाब देंहटाएं
  17. नजर न लगे तक तो ठीक है

    पर इससे आगे

    नजर पड़े तो सही।

    जवाब देंहटाएं
  18. इश्वर करे आपकी भावनाएं सब दिशाओं में फैलें.

    जवाब देंहटाएं
  19. aapka swasthya kaisa hai dheeru bhai

    जवाब देंहटाएं
  20. आपको लोहडी और मकर संक्रान्ति की शुभकामनाएँ....

    जवाब देंहटाएं
  21. ईश्वर की कृपा है। आप स्वस्थ बने रहें।

    जवाब देंहटाएं

आप बताये क्या मैने ठीक लिखा