रविवार, फ़रवरी 28, 2010

होली के रंग में डूबने से पहले ,बहकने से पहले ,लड़खड़ाने से पहले मेरी गीली गीली सी शुभकामनाये

.
.
शोक और गमी को भुलाने का त्यौहार भी है होली . होली के हुडदंग में होली की महत्ता को कम कर दिया है होली एक ऐसा त्यौहार है जो जाति , ऊच नीच की दीवारों को तोड़ता है . हमारे यहाँ होली पर सब मत भेद भुला कर गले मिलाने की पुराणी परंपरा है .और होली के रंग शायद यह सन्देश देते है सब रंग विरंगे रहे और एक रंग रहे . 


और होली ही एक ऐसा पर्व है कि सच भी बोलो और होली है कह कर बरी हो जाओ शायद सॉरी होली है से ही इंस्पायर्ड है . होली पर बज़ते ढोल गाते हुरियारे शायद गवाही देते है खुशहाली का . आज की महंगाई भी होली पर असर नहीं डालती . उत्साह उमंग का त्यौहार होली . 


होली की सच्ची खुशी देखनी है तो चले मेरे गावं और देखे वहां के बच्चे जो साल भर होली का इंतज़ार इस लिए करते है कि उनेह नए कपडे मिलेंगे पहनने को . साल भर में एक बार ही तो नए कपडे मिल पाते है . और होली पर तो गुजिया बन ही जाती है खोये और शक्कर की ना सही लेकिन राब यानी गुड की गुजिया जिसे पिच्चाकिया कहते है बन ही जाती है . 


हम लोगो की तो हर दिन होली और रात दिवाली हो सकती है लेकिन असली होली की उमंग देखनी हो तो किसी गावं में जा कर देखे या किसी झुग्गी वस्ती में . होली उन चेहरों पर भी मुस्कान लाती है जो ३६४ दिन उदास से रहते है . 


होली के रंग में डूबने से पहले ,बहकने से पहले ,लड़खड़ाने से पहले मेरी गीली गीली सी शुभकामनाये 

9 टिप्‍पणियां:

  1. बहके को बहकाना कैसा
    होली मुबारक हो

    उत्तर देंहटाएं
  2. आपको व आपके समस्त परिवार को भी होली की शुभकामनाएँ।

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत बढ़िया ..रंगोत्सव पर्व की हार्दिक शुभकामनाये ....

    उत्तर देंहटाएं
  4. आप ओर आप के परिवार को होलॊ की बधाई ओर शुभकामानाये

    उत्तर देंहटाएं
  5. होली के रंग बिरंगे त्यौहार की रंगारंग शुभाकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  6. रंगोत्सव पर आपको शुभकामनायें !!

    उत्तर देंहटाएं

आप बताये क्या मैने ठीक लिखा