गुरुवार, मई 13, 2010

नेता तो बहुत से ब्लागर हुए अब ब्लागर बनेगा नेता .............. खुशदीप भाई अब राजनीति मुझे मिस नहीं करेगी



गाँव, गरीब, किसान,झुग्गी ,झोपड़ी के इंसान की समस्यायों को दूर करने के लिए संघर्ष  कर रहे है हम लोग .  जगह जगह धरना देते है जन समयस्या के निराकरण के लिए . इस एक महीने में निम्न कार्य किये है हमने 

१-  क्षेत्र में बिजली की अव्यवस्था के खिलाफ मुख्य अभियंता का घेराव 

२- पेयजल और साफ़ सफाई के लिए नगर निगम का घेराव 

३-किसानो की उपज गेहूं खरीद में जो सरकारी भ्रष्टाचार और काला बाजारी हो रही है उसके विरोध में तहसीलों पर घेराव 

४- एक गाँव में लगी आग में १६ परिवार पूरी तरह से तबाह हो गए सरकारी मदद ना के बराबर मिली उसके विरोध में प्रदर्शन और उन परिवारों को वस्त्र वितरण 

५-एक गाँव में दीवार गिरने से ३ बच्चो की दर्दनाक मौत हो गई . प्रशासन ने आपदा मानने से मना कर दिया उसके विरोध में जिलाधिकारी कार्यालय में पीडितो के साथ प्रदर्शन . शासन से मदद का आश्वासन मिला . 

यह कुछ बानगी है . निस्वार्थ भाव द्वारा  राजनेतिक माध्यम से समाज की सेवा करने की . आगे भी जारी रहेगी . और हां एक बात एक भ्रान्ति दूर करने की कोशिश सब नेता एक से नहीं होते . 


14 टिप्‍पणियां:

  1. सराहनीय प्रयास
    सब नेता एक जैसे नहीं होते इस बात से १०० % सहमत |

    उत्तर देंहटाएं
  2. सराहनीय प्रयास....अच्छी कोशिश सोए हुओं को जगाने की...
    लगे रहिए ...अपनी मुहिम में जुटे रहिए

    उत्तर देंहटाएं
  3. बढ़िया धीरु भाई..लगे रहो.अनेक शुभकामनाएँ.

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत खुब जी जंच रहे हो, अब काम भी ’ऎसे करो जो सभी को जंचे

    उत्तर देंहटाएं
  5. चलिये जल्दी ही सांसद या विधायक बनें....

    उत्तर देंहटाएं
  6. धीरु भैया संघर्ष करो,
    हम तुम्हारे साथ हैं।
    तन-मन-धन और ब्लाग के साथ
    गरीबों की सेवा के लिए मिलाओ हाथ

    जय हो

    उत्तर देंहटाएं
  7. जय हो । एक संवेदनशील व्यक्तित्व का राजनीति में आना देश के भविष्य के लिये शुभ संकेत है ।

    उत्तर देंहटाएं
  8. धीरू भाई,
    माफ़ी चाहता हूं, देर से आ सका आपकी पोस्ट पर...

    न वज़ीरों से बदलेगा, न अमीरों से,
    ज़माना बदलेगा तो बस हम फ़कीरों से...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहुत खूब... लगे रहो..

    शुभकामनाए..

    उत्तर देंहटाएं
  10. निर्मल मन से की जा रही सामान्यजन की सेवा हेतु आपको शुभकामनाएँ
    विजयी भवो

    उत्तर देंहटाएं

आप बताये क्या मैने ठीक लिखा