रविवार, मई 17, 2009

मेनका की जीत में सोनिया का हाथ - इस चुनाव का १००% सच

देवरानी जीत गई जिठानी के कारण यह सच है । मेनका गाँधी की जीत में सोनिया गाँधी का बहुत बड़ा हाथ था यह मज़ाक नही १००% सच है । मैं आवंला लोकसभा का ही रहने वाला हूँ और राजनीति पर नज़र रखता हूँ और दखल भी

गाँधी परिवार के प्रति लोगो का पागलपन किस हद तक है इसका नज़ारा पेश है । मेनका भाजपा के टिकिट पर चुनाव लड़ रही थी और गाँव में चर्चा हो रही थी -

बड़े घर की बहू है जाकी जिठानी ने किसानन के कर्जा माफ़ कद दये जाई को वोट देयेंगेदेखो नरेगा से रोज़गार भी मिल रहो है

लोगो ने समझाया यह दोनों अलग अलग है इन से उसका कोई मतलब नही । जबाब आया है

झूठ मति बोलो दोनों एक है तई तो जिठानी ने कांग्रेस से कोई कंडीडेट नाय उतारो देवरानी के ख़िलाफ़

अब क्या कहे क्या न कहे कांग्रेस ने महान दल जैसी गुमनाम सी पार्टी के लिए यह सीट दे दी । इसका फायदा उठा कर मेनका केवल ६००० वोटो से चुनाव जीत गई जबकि पड़ोस में लाडले वरुण की लहर चल रही थी और मेनका के पास आते आते लहर रुक गई और भाजपा साफ़ हो गई ।

13 टिप्‍पणियां:

  1. BADHAAYEE HO... AAPKO BHI EK STHAAYEE SARKAAR KE LIYE .... PURE AAWAAM KO SALAAM MERAA...


    ARSH

    उत्तर देंहटाएं
  2. भारतीय मतदाता है जी कुछ भी कर सकते है !

    उत्तर देंहटाएं
  3. जो परिवार गाँधी नाम को भुनाए ही जा रहा है वहाँ की एक और सदस्या को भी लाभ मिल जाए तो क्या बुराई है!हमें नेता नहीं चाहिए, युवराज और रानियाँ चाहिएँ, सो मिल रहे हैं।
    घुघूती बासूती

    उत्तर देंहटाएं
  4. देवरानी जेठानी तो आपस में बहन ही कहलाईं... :)

    उत्तर देंहटाएं
  5. सही है!! ये पब्लिक है सब जानती है..

    उत्तर देंहटाएं
  6. सही आंकलन है आपका...........राजनीति में जो हो वो कम है.........

    उत्तर देंहटाएं
  7. ये रिश्ता ही ऐसा होता है
    कुछ खट्टा, कुछ मीठा होता है

    उत्तर देंहटाएं
  8. ये बात कुछ हजम नहीं हुई। लेकिन, आप कह रहे हैं तो मान लेते हैं

    उत्तर देंहटाएं

आप बताये क्या मैने ठीक लिखा