बुधवार, मई 13, 2009

डाल आए वोट - लेकिन फ़िर भी रहेंगे पप्पू के पप्पू ही

डाल दिया वोट , अब हमारे वोट की कीमत वसूल करेंगे नेता सरकार बनाने मेमुझे तो यह लग रहा है वोट डालने केबाद पप्पू बन जाता है बेचारा वोटरक्या करे आम वोटर की किस्मत में ही है पप्पू बनना

जोड़ तोड़ शुरू जो एक दुसरे को गाली दे देकर हमारे वोट ले रहे थे वह आदरणीय नेता सत्ता के लिए १६ मई को गले मेहाथ डाले खड़े होंगे और हम पप्पू लोग उनके चक्र व्यूह मे फस कर हमेशा की तरह रोयेंगे फिर सालो के लिए

तो भारत के वोट डालने वाले पप्पुओ तुम जग रहे थे इसलिए वोट डालने गए और अपना सब कुछ गवां कर घर मे टीवी देखो टी वी । .

10 टिप्‍पणियां:

  1. पप्पुओं को कुछ फर्क नहीं पड़ता.
    voterअपनी जाति के खोल से
    baahar निकल kar dekhna hi nahi chahta.
    vote lekar champat ho jane wale netaon ka dosh kam...pappuon ka jyada hai....

    उत्तर देंहटाएं
  2. SACHI KAHAA HAI AAPNE.. HAM JIS SARKAAR YA NETAA KO VOTE KARTE HAI WO PATAA NAHI KAB PAALA BADAL KE DUSARE KHEME ME CHALAA JAYE..KAUN JAANE ... VOTER HAMESHAA PAPPU HI RAHTA HAI...


    ARSH

    उत्तर देंहटाएं
  3. जी सच कहा आपने..चुनाव परिन्नाम आते ही ये सब एक हो जायेंगे...इनका फ्रेंडली मेच पूरा हो गया है..जो ये जनता को पप्पू बनाने के लिए खेलते है...

    उत्तर देंहटाएं
  4. क्‍या कहें, सरकार के लि‍ए जनता पहले भी पप्‍पू थी, आज भी है और आगे भी रहेगी।

    उत्तर देंहटाएं
  5. वोट डालने के बाद यह तो है कि हम अपनी मर्जी से पप्पू हैं!
    बाकी आज देखते हैं एग्जिट पोल!

    उत्तर देंहटाएं
  6. ज्ञान जी की बात ठीक लगती है. इसलिए वोट डालना भी जरूरी ही है ताकि हमें इस बात का शिकवा न रहे की हमें पप्पू बना दिया.

    उत्तर देंहटाएं
  7. अब क्या करें....हमारा लोकतंत्र ऐसा ही है...........पहले चुनो फिर दीवार में खुदको चिन्वाओ

    उत्तर देंहटाएं
  8. सही बात है, पपू को वोट डाल कर मुगालता हो जाता है कि वो अब पप्पू नहीं रहा.

    उत्तर देंहटाएं
  9. सही कहे हो भैया, सब के सब अब पप्पू बनेंगे. (पप्पुओं को कोई आपत्ति भी नहीं है)

    उत्तर देंहटाएं

आप बताये क्या मैने ठीक लिखा