रविवार, सितंबर 13, 2009

लॉन्ग लिव हिन्दी - सेलिब्रेट हिन्दी डे


ओह गोड कल  हिन्दी डे कैसे करे सलेब्रेशन थिंक ? बॉस ने कहा 


सर एक सजेस्शन क्यों न हिन्दी डे  पर एक प्रोग्राम रखे । सेकेट्री ने कहा


गुड वैरी गुड क्या प्रोग्राम करे थिंक ?


एक हिन्दी के रिटाएर टीचर को बुके एंड गिफ्ट प्रेसेंट कर देंगे ,ओल्ड हिन्दी डे के बैनर साफ़ करके लगवा देंगे । आल स्टाफ मीटिंग विथ हाई टी , एंड अ प्रेस रिलीज़ विथ फोटो इससे जायदा हिन्दी डे पर क्या करे 

ओ.के .एक मेरे लिय स्पीच रेड्डी करो उसमे हिन्दी की इम्पोर्तेंस  के बारे में लिखना ।

प्रोग्राम स्टार्ट एंड बॉस स्पीअच बीगन 


रेस्पेक्टेड़ गुरु जी एंड आल ऑफ़ माय कुलीग्स , आज हम हिन्दी डे इव स्लिब्रेशन कर रहे है ,हिन्दी हमारी नेशनल लेंग्वेज ही नहीं हमारी मदर टंग भी है । कितनी ब्यूटी फुल बात है ऑवर चिल्ड्रन रीड हिन्दी । इन द प्रोग्रेस ऑफ़ हिन्दी हमको एवेरी मोंथ हिन्दी डे सलिब्रेट करना चाहिए । बिदआउट हिन्दी हमारी प्रोग्रेस नहीं हो सकती है बी काज इफ वी नॉट रेस्पक्ट ऑवर नेशनल लैंग्वेज वह नेशन को क्या प्रोफिट करेंगे ।
बेल प्रोग्राम में पार्टीस्प्रेट  के लिए थैंक्स ,एंड टेक क्येर । प्लीअज हाई टी वेटिंग यू ।

लॉन्ग लिव हिन्दी   

9 टिप्‍पणियां:

  1. वेरी गुड सेलिब्रेशनज़। हैपी हिन्दी डे । सीधी चोट के लिये धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  2. जब आई सी सच सेलिब्रेश, मेरा दिल गार्डन गार्डन हो जाटा होय:)

    उत्तर देंहटाएं
  3. मजा आ गया, लेकिन गलती किस की है, हम सब की, बच्चो को आज हिन्दी मै कुछ बोलो उन्हे समझ नही आता, लेकिन जब आप किसी भी NRI के बच्चो से बात करो तो हेरान हो जाओगे उन्हे हिन्दी भारत के बच्चो से ज्यादा आती है, क्योकि वो "हैपी हिन्दी डे" नही मनाते, अपनी हिन्दी को हमेशा अपने दिल मे जगह देते है,अग्रेजी हमारी गुलामी की पहचान है, ओर हिन्दी एक आजाद आदमी की पहचान है, एक आम आजाद हिन्दुस्तानी की पहचान

    उत्तर देंहटाएं
  4. मदर टंग की तो टाँगे ही टूट गयी लगती है.. करारी चोट की है आपने..

    उत्तर देंहटाएं
  5. ab naubat ye hai ke hind me hindi ka pakhwara manaya jata hun... aapko bhi hindi day mubarak ho..


    arsh

    उत्तर देंहटाएं
  6. VAAH DHEERU JI .... KYA HINDI DIVAS MANAAYA .... KARAARA VYANG MAARA .... MAZAA AA GAYA ..

    उत्तर देंहटाएं
  7. हमारे एक मित्र थे हिन्दी अधिकारी वे अंग्रेज़ी इसलिये बोलते थे कि लोग उन्हे अधिकारी तो समझें । अच्छा व्यंग्य है ?

    उत्तर देंहटाएं

आप बताये क्या मैने ठीक लिखा