सोमवार, मार्च 16, 2009

जल्लाद नेता बनकर आ गए

नफरत फैलाने गए

आग लगाने गए

चुनाव क्या होने को हुए

जल्लाद चहेरे बदल

नेता बनकर गए

10 टिप्‍पणियां:

  1. यही हमारी नियति लगती है.

    उत्तर देंहटाएं
  2. priy bandhu ,netaaon ko aap kitni bhali prakar jaante hain ,achchha lagaa , krpyaa meraa blog bhi dekhen

    उत्तर देंहटाएं
  3. ये जल्लाद साम्प्रदायिकता,जातिवाद, गुंडागर्दी,भ्रष्टाचार को भी खाद पानी देने आ गए |

    उत्तर देंहटाएं
  4. क्या बात है...वाह...सच्ची मगर कड़वी बात...
    नीरज

    उत्तर देंहटाएं
  5. अब आ ही गये हैं तो दो-ढ़ाई महीने कहर ढ़ायेंगे ही!

    उत्तर देंहटाएं
  6. सही कहा नेता डाकू बन कर आ गये हैं

    उत्तर देंहटाएं
  7. धीरू भाई आप का लिंक मेरे ब्लांग पर आ नही रहा था, लेकिन आज आ गया, अब आप कि शिकायत दुर हो गई होगी.
    धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं

आप बताये क्या मैने ठीक लिखा