सोमवार, अक्तूबर 25, 2010

एक बार फिर आपकी जरुरत आन पडी

बहुत दिनों से व्यस्त था गाहे वगाहे ब्लॉग पर आता था पढ़ता था और चला जाता था . एक व्यक्ति को कई भूमिका निभानी पड़ती है तो समय का अकाल तो पड़ता ही है . अभी हमारे यहाँ पंचायत का चुनाव चल रहा था . हमारे बहुत से साथी चुनाव का सामना कर रहे है कई दिन उनके प्रचार में लगा रहा .उधर घर की जिम्मेदारी भी है और एक नया व्यापार भी समय ले रहा है उसका निर्माण भी चल रहा है वारिश और बाढ़  की वजह से हम पिछड़ गए है दीपावली का सुनहरा सीजन हाथ से निकल ही गया है .

इसी कशमश में आराम की सोच ही रहा था अचानक आज सुबह घर में ही फिसल गया . घुटने में काफी चोट आई है एक्स रे में पता चला लिंग्मेंट डैमेज हो गया है यह मुझे डाक्टर ने बताया .मुझे नहीं मालूम यह क्या है . लेकिन बहुत दर्द है असहनीय ...... प्लास्टर की जगह आजकल चलने वाले बेल्ट कस दिए है तीन हफ्ते के लिए . डाक्टर का तो कहना है पूरा  आराम करो नहीं तो आपरेशन की नौबत आ सकती है . खैर मुझे दर्द से ज्यादा चिंता अपने पेंडिग कामो की है . अगले दो दिन तक तो मैं आराम को तबज्जो नहीं दे सकता . जो होगा देखा जाएगा .

ब्लॉग पर आने के बाद मैंने अपना हर सुख दुःख यहाँ पर शेयर किया है . उसी कड़ी में एक नया दुःख लिख रहा हूँ . आपकी सदभावनाए एक टानिक का काम करती है . या कहें बिना साइड इफेक्ट की पेन किलर होती है .

11 टिप्‍पणियां:

  1. अपने शरीर का खयाल रखें जल्दी स्वस्थ हों...

    उत्तर देंहटाएं
  2. dhiru bhayi sbse pehle to ghutne ke drd ke liyen hm afsos jtate hen or khuda se yhi ummid he ke jldi thik ho jaaye fir dusre is andaze byaan pr hardik bhdyayi bhit khub andaaz he miyaa lge rho munna bhayi. akhtar khan akela kota rajsthan

    उत्तर देंहटाएं
  3. लिगामेंट वह मांसपेशियां होती हैं जो हड्डी को जोड़ कर रखती हैं।
    कभी कभी चोट लगने से लिगामेंट टूट जाते हैं जिन्हे आपरेशन करके जोड़ा जाता है। आपकी चोट गंभीर नहीं है,इसलिए आराम करने कहा है। आगे कोइ आर्थोपैडिक्स विशेषज्ञ ही बता सकते हैं। आप आराम कीजिए और जल्दी ठीक होकर काम संभालिए।

    हम आपके शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करते हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  4. भाई धीरू सिंह जी,
    स्वास्थ्य का ध्यान रखें।
    शीघ्र स्वास्थ्यलाभ हेतु शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
  5. आपके शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करते हैं। शुभकामनाएँ |

    उत्तर देंहटाएं
  6. धीरु भाई! जल्द स्वास्थ लाभ कर वापस आओ, इस आभासी जगत में!

    उत्तर देंहटाएं
  7. धीरू जी ... अपना ख्याल रखें ... आराम करें .... और जल्दी ही स्वस्थ हो कर दुबारा काम पर आएँ .. ब्लॉग पर आएँ ... शुभकामनाएँ ...

    उत्तर देंहटाएं
  8. शरीर अपने आप में एक डॉक्टर होता है इसलिए अगर मन में विश्वास हो तो कोई भी दुःख ज्यादा दिन नहीं रह पाता है | वैसे भी आप एक बहादुर इंसान हैं आशा है आप जल्द स्वस्थ हो जायेंगे और यही कामना है भगवान से ...

    उत्तर देंहटाएं
  9. अरे भाई, अपना ध्यान रखिये. बाढ आदि विपदायें तो हमारे हाथ में नहीं हैं परंतु जितना भी है उसके बारे में सचेत रहने की आवश्यकता है।

    उत्तर देंहटाएं
  10. आशा है आप शीघ्र स्वस्थ हो जाएंगे॥

    उत्तर देंहटाएं

आप बताये क्या मैने ठीक लिखा