सोमवार, जुलाई 05, 2010

नरेंद्र मोदी के लश्कर ए तैयब्बा से सम्बन्ध उजागर

नरेंद्र मोदी के बारे में जो दबी छुपी बाते थी आज उजागर हो गई . वह है मोदी के लश्कर से सम्बन्ध . अपने साथी नरेंद्र मोदी को फसते देख लश्कर के आतंकी हैडली ने मासूम निर्दोष इशरत जहाँ को अपना साथी बता दिया . यह वही इशरत जहाँ  है जो मोदी के गुर्गो ने फर्जी मुठभेड़ में मार दिया था . 

बेचारी अदालत और केंद्र सरकार ने इशरत जहाँ  को  मासूम माना था . एक निर्दोष महिला व उसके साथियो को बेहरहमी से क़त्ल कर मोदी ने देश में अशांति फैलाने का काम किया था . नरेंद्र मोदी को कट्टर हिन्दू नेता के तौर पर लश्कर ने ही स्थापित किया जिससे देश में अराजकता फैले . और मोदी को केंद्र सरकार ने जब कटघरे में घेरा तो लश्कर ने अपने साथी को बचाने के लिए उन मासूमो को अपना साथी कहा और अपना फिदायनी तक बताया . यह एक साजिश है फसे  मोदी को बचाने की जो केंद्र और धर्मनिरपेक्ष ताकते कतई बरदाश्त नहीं करेंगी . 

नोट :- यह सब लिखा पर्चा कांग्रेस के एक प्रवक्ता की जेब से रुमाल निकालते समय गिर गया जो १० जनपथ से बाहर निकल रहे        थे . उनके साथ कई स्वनामधन्य टी वी मालिक और पत्रकार भी थे . 







14 टिप्‍पणियां:

  1. सच्चे का बोलबाला, झूठे का मुंह काला.

    उत्तर देंहटाएं
  2. जोर का झटका धीरे से! जोरदार व्यंग्य।

    उत्तर देंहटाएं
  3. बेहद उम्दा और सटीक व्यंग्य।



    http://blog4varta.blogspot.com/2010/07/4_4248.html

    उत्तर देंहटाएं
  4. जय भीम आपने ठीक आकलन किया मैं ने भी पेरियार की जेब से गिरे पर्चे उठाए है उन्हे भी पढ़ें

    उत्तर देंहटाएं
  5. क्या कस के मारा है साहब जी...जोरदार सत्य!!!

    उत्तर देंहटाएं
  6. मान गये आपके अंदाज़ को ... इसे कहते हैं पुच्कार के मारना ... करारा व्यंग ...

    उत्तर देंहटाएं
  7. aap log jaise log rahe to des me kabhi shanti nahi ho sakti hai, aur bahas karni ho is matter per to mail kare sunit333@rediff.com
    up me rahte hai na gujrat me rah kar dekhia pata chal jayega. es tarah ka blog na likhe shanti bhang hoti hai. thank you

    उत्तर देंहटाएं

आप बताये क्या मैने ठीक लिखा